नेत्रेश शर्मा : परिवार आग में फंसा, लेकिन कांस्टेबल ने बचाई मासूम समेत 3 की जान, जमकर की तारीफ

By | April 5, 2022

कहा जाता है कि एक तस्वीर हजार शब्दों के बराबर होती है। ऐसी ही एक तस्वीर राजस्थान के करौली में हुई हिंसा के बीच सामने आई है. आग की लपटों के बीच कांस्टेबल के कंधे पर एक मासूम है। ये तस्वीर अपने आप में पूरी कहानी गढ़ रही है. कांस्टेबल ने अपनी जान से खेलकर मासूम समेत 3 लोगों को हिंसा में झुलसे इलाके से छुड़ाया. हर कोई इस तस्वीर की तारीफ कर रहा है.

करौली पुलिस कांस्टेबल नेत्रेश शर्मा

दरअसल, राजस्थान के करौली में नव संवत्सर के मौके पर रैली के दौरान हिंसा फैल गई थी. इस दौरान मारपीट और आगजनी की घटनाएं भी हुई। सोशल मीडिया पर हर कोई हिंसा के बीच हिम्मत दिखाने वाले एक पुलिसकर्मी की तारीफ कर रहा है.

इस पुलिसकर्मी ने आगजनी की घटना के दौरान एक मासूम समेत 3 लोगों की जान बचाई थी. राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने भी कांस्टेबल को फोन कर उनकी तारीफ की है। साथ ही प्रमोशन का तोहफा भी दिया।

पुलिस वाला कौन है?

राजस्थान के करौली में हिंसा फैल गई थी। असामाजिक तत्वों ने दुकानें जला दीं। हर तरफ आग की लपटें नजर आ रही थीं। हिंसा और आग के बीच फटी कोट क्षेत्र स्थित दुकान में एक मासूम और दो महिलाएं भी फंस गईं। आग की धधकती लपटों के बीच गोद में बैठी ये दोनों महिलाएं और मासूम दोनों काफी डरी-सहमी नजर आ रही थीं.

तभी करौली नगर चौकी पर तैनात आरक्षक नेत्रेश की नजर उन पर पड़ी। कांस्टेबल ने अपनी जान की परवाह किए बिना तीनों को बचाने का फैसला किया। नेत्रेश ने मासूम को महिलाओं के साथ मौजूद दुपट्टे से ढक दिया और उसे गोद में ले लिया और आग की लपटों के बीच तेजी से दौड़ता हुआ बाहर आया।

आग की लपटों के बीच आरक्षक नेत्रेश ने अपनी जान की परवाह किए बगैर मासूमों और महिलाओं को सुरक्षित बाहर निकाल लिया. इस तस्वीर को देखकर ऐसा लगता है जैसे कोई फिल्मी सीन हो, जहां हीरो को किसी को बचाते हुए दिखाया गया हो। लेकिन कांस्टेबल नेत्रेश ने रील लाइफ के अलावा जो किया वह असल जिंदगी की जीवंत तस्वीर है। यही वजह है कि इस फोटो को देखकर हर कोई बधाई दे रहा है.

कांस्टेबल नेत्रेश के साहस की हर तरफ तारीफ हो रही है। नेत्रेश की वीरता को देखकर मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने भी उन्हें फोन कर बधाई दी और बधाई दी। नेत्रेश को आरक्षक से हेड कांस्टेबल के पद पर पदोन्नत करने की घोषणा की। नेत्रेश को 2013 में कांस्टेबल के रूप में नियुक्त किया गया था। वर्तमान में वे करौली शहर चौकी पर तैनात हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.